Strange India All Strange Things About India and world


  • Hindi News
  • National
  • Sexual Exploitation Of Minors In Bhopal Case Updates; Ploice Presented Pyare Miya In Court

कीर्ति गुप्ता, भोपाल5 मिनट पहले

आरोपी प्यारे मियां (हरे रंग की टी-शर्ट) को पुलिस ने दोपहर करीब 2 बजे कोर्ट में पेश किया।

  • अब उसकी भोपाल, इंदौर और सीहोर में 46 संपत्तियों की जानकारी सामने आई
  • मप्र बाल आयोग ने पुलिस को नोटिस जारी कर मामले की जानकारी मांगी

नाबालिग बच्चियों के साथ हुए यौन शोषण मामले में कश्मीर के श्रीनगर से पकड़े मुख्य आरोपी प्यारे मियां को आज भोपाल जिला अदालत में पेश कर किया गया। पुलिस उसे कड़ी सुरक्षा घेरे में शुक्रवार दोपहर करीब 2 बजे कोर्ट लाई। परिसर में सबसे पहले पुलिसकर्मी ने उसकी थर्मल स्क्रीनिंग की। इस दौरान वकील भी प्यारे के साथ खड़े नजर आए। परिसर के अंदर उसकी दो बार थर्मल स्क्रीनिंग की गई। कोर्ट ने उसे 5 दिन की पुलिस रिमांड पर पुलिस को सौंप दिया है।

भोपाल पुलिस की टीम उसे गुरुवार को श्रीनगर से गिरफ्तार कर फ्लाइट से भोपाल लाई थी। रात को उसे अलग-अलग जगह ले जाकर पूछताछ की गई। उसके खिलाफ शाहपुरा, कोहेफिजा और श्यामला हिल्स पुलिस थानों में मामले दर्ज हैं। सांभर के सींग फ्लैट में मिलने से वन विभाग की टीम भी पूछताछ करने की तैयारी में है।

पुलिस ने कड़ी सुरक्षा घेरे में उसे कोर्ट में पेश किया। परिसर के अंदर उसकी दो बार थर्मल स्क्रीनिंग की गई।

46 सपंत्तियों का पता चला

प्यारे मियां पर मामला दर्ज होने के बाद पुलिस, प्रशासन और दूसरे विभाग लगातर उसकी संपत्तियों के बारे में पता लगा रहे हैं। ऐसे में अब तक की जांच में उसकी भोपाल के अलावा इंदौर और सीहोर में 40 से अधिक संपत्तियों के बारे में पता चला है। प्रशासन को आशंका है कि उसकी विदेशों में भी संपत्ति हो सकती है। खासतौर पर दुबई में। ऐसे में अब उसके दुबई कनेक्शन पर भी काम चल रहा है। अभी तक भोपाल में ही उसकी निशातपुरा, शाहपुरा, ऐशबाग, तलैया में तीन, सीहोर नाके के पास और श्यामला हिल्स में 2 संपत्तियां होने की जानकारी सामने आ चुकी है।

बाल आयोग ने पुलिस ने मामले की जानकारी मांगी
नाबालिगों के साथ हुए यौन शोषण के मामले में राष्ट्रीय बाल आयोग ने पुलिस को नोटिस देकर विभिन्न बिंदुओं पर जानकारी मांगी है। आयोग ने पुलिस से पूछा है कि इस मामले में फॉरेसिंक जांच सुनिश्चित की गई है या नहीं। आरोपी के कॉल रिकार्ड के आधार पर अन्य बच्चों की पहचान की गई है या नहीं। आयोग के अध्यक्ष प्रियंक कानूनगो ने बताया कि इसके लिए एसपी साउथ को 10 दिनों के अंदर प्रतिवेदन देने के लिए समय दिया है।

अब आगे यह होगा

बच्चियों के बयान दर्ज करने के साथ ही अगर कोई और सामने आता है, तो दूसरे मामले भी दर्ज हो सकते हैं। पुलिस आरोपी को उसकी संपत्तियों के सोर्स के बारे में पूछताछ करेगी। उसे घटना स्थल पर ले जाया जाएगा। इस मामलें में दूसरे विभाग जैसे वन विभाग और आयकर समेत अन्य विभाग भी आरोपी से पूछताछ करेंगे। 

जमानत मिलना मुश्किल

प्यारे में मियां पर नाबालिगों से यौन शोषण के साथ कई दूसरे मामले दर्ज हैं। अब तक तीन थानों में उसके खिलाफ एफआईआर दर्ज हो चुकी हैं। सभी मामलों में उसे अलग-अलग जमानत के लिए आवेदन करने होंगे। ऐसे में उसके जमानत पर बाहर आने की उम्मीद बहुत कम है। हालांकि, वकील उसकी बीमारी को आधार बना सकते हैं।

0



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *