घर के मंदिर सोने, चांदी या तांबे के बर्तन रखना चाहिए, देवी-देवता की बहुत ज्यादा मूर्तियां रखने से बचना चाहिए


33 मिनट पहले

  • घर में मंदिर उत्तर, पूर्व और उत्तर-पूर्व दिशा के कोण में होना चाहिए, रोज सुबह-शाम जलाना चाहिए दीपक

घर के मंदिर में वास्तु से जुड़ी टिप्स ध्यान रखने से पूजा-पाठ जल्दी सफल हो सकती हैं। मन शांत रहता है और भक्ति में भी मन लगता है। अगर मंदिर से जुड़े वास्तु दोष होंगे तो पूजा-पाठ मनोकामनाएं अधूरी रह सकती हैं। उज्जैन के ज्योतिषाचार्य पं. मनीष शर्मा के अनुसार मंदिर के लिए सबसे शुभ दिशा उत्तर, पूर्व और उत्तर-पूर्व दिशा का कोण मानी गई है। दक्षिण और दक्षिण-पश्चिम दिशा में मंदिर नहीं रखने से बचना चाहिए।

  • मंदिर में देवी-देवताओं की बहुत ज्यादा मूर्तियां नहीं रखनी चाहिए। गणेशजी, मां लक्ष्मी और देवी सरस्वती की मूर्तियां खड़ी स्थिति में नहीं रखनी चाहिए। ध्यान रखें खंडित मूर्तियां भी मंदिर में न रखें।
  • मंदिर के ऊपर या आसपास बेकार सामान न रखें। घर के मंदिर में सोना, चांदी और तांबे के बर्तन रखना चाहिए। मंदिर में लोहा, एल्युमिनियम और स्टील के बर्तन न रखे।
  • घर के मंदिर में प्रतिदिन सुबह और शाम को दीपक जरूर जलाएं। दीपक जलाने से घर के कई वास्तु दोष दूर होते हैं।
  • पूजा स्थल के पास थोड़ी जगह खुली भी होना चाहिए, जहां आसानी से बैठकर पूजा की जा सके। पूजा के बाद कुछ देर ध्यान भी करना चाहिए।
  • मंदिर के आसपास पूजन सामग्री, धार्मिक पुस्तकें, शुभ वस्तुएं रखनी चाहिए। घर का अन्य सामान मंदिर की जगह पर नहीं रखना चाहिए।

0



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error

Enjoy this blog? Please spread the word :)

Follow by Email
LinkedIn
Share
Instagram