Strange India All Strange Things About India and world


  • Hindi News
  • International
  • Tik Tok Company Said Will Challenge The Order Issued By Trump To Sell Business In The US, We Have No Choice Other Than This

वॉशिंगटन17 दिन पहले

  • कॉपी लिंक

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प दावा करते हैं कि चीन की कंपनी टिकटॉक से राष्ट्रीय सुरक्षा को खतरा है। (फाइल फोटो)

  • ट्रम्प ने 14 अगस्त को कहा था- टिकटॉक ने 90 दिन में बिजनेस नहीं बेचा, तो बैन लगाएंगे
  • टिकटॉक ने कहा- ट्रम्प प्रशासन के आदेश के खिलाफ 24 अगस्त को अपील करेंगे

टिकटॉक अमेरिकी बाजार में बने रहने के लिए कोर्ट का सहारा लेगी। टिकटॉक की पैरेंट कंपनी बाइटडांस ने शनिवार को कहा, ‘हम तय करेंगे कि यूजर्स के साथ इंसाफ हो और कानून का उल्लंघन नहीं हो। हमारे पास अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के आदेश को कोर्ट में चैलेंज देने के अलावा कोई और विकल्प नहीं है। 24 अगस्त को कोर्ट में अपील करेंगे।’

ट्रम्प ने बाइटडांस के खिलाफ 14 अगस्त को आदेश जारी किया था। इसमें कहा गया था कि टिकटॉक का अमेरिकी बिजनेस 90 दिनों के अंदर किसी अमेरिकी कंपनी को नहीं बेचा तो बैन लगा देंगे।

ट्रम्प का दावा- टिकटॉक से राष्ट्रीय सुरक्षा को खतरा
अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा था कि चाइनीज ऐप राष्ट्रीय सुरक्षा, विदेश नीति और इकोनॉमी के लिए खतरा बने हुए हैं। टिकटॉक ऑटोमैटिकली यूजर की जानकारी हासिल कर लेता है। इसके जरिए चीन की कम्युनिस्ट पार्टी को अमेरिका के लोगों की जिंदगी में ताक-झांक करने का मौका मिल जाता है। इससे वह अमेरिकी कर्मचारियों और कॉन्ट्रैक्टर्स की लोकेशन ट्रैक कर सकता है, बिजनेस से जुड़ी जासूसी कर सकता है और पर्सनल इन्फॉर्मेशन के आधार पर ब्लैकमेल भी कर सकता है।

अमेरिका को रिझाने के लिए टिकटॉक चीन से दूरी बना रही
टिकटॉक ने मई में केविन मेयर को सीईओ बना दिया था। इससे पहले केविन अमेरिकी कंपनी डिज्नी से जुड़े हुए थे। टिकटॉक की पैरेंट कंपनी बाइटडांस ने पिछले महीने अपना हेडक्वार्टर बीजिंग से वॉशिंगटन शिफ्ट करने की बात भी कही थी। उसने जासूसी करने के आरोपों को भी गलत बताया है।

टिकटॉक से जुड़ी ये खबरें भी पढ़ सकते हैं…

1. भारत ने जिन ऐप्स पर बैन लगाया, उनमें 20 से ज्यादा यूटिलिटी टूल; इन्हीं से होता था मोबाइल मैनेजमेंट

2. टिकटॉक के इस्तेमाल पर मिस्र ने पांच महिलाओं को जेल भेजा, 14 लाख रुपए का जुर्माना भी लगाया

3. टिकटॉक के खिलाफ विदेशी दखल और डाटा प्राइवेसी को लेकर ऑस्ट्रेलिया में भी जांच शुरू

0



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *