prerak prasang

राजा ने भिखारी से मांगी भीख तो वह हैरान हो गया, उसने झोली में से थोड़ा सा अनाज दे दिया, बदले में राजा ने भी भिखारी को एक पोटली दी

दान-पुण्य करते समय कंजूसी नहीं करनी चाहिए, प्रसन्न होकर जरूरतमंद लोगों को देनी चाहिए भिक्षा दैनिक भास्कर Jul 14, 2020,…

जब तक हम जीवन से संतुष्ट नहीं होंगे, तब तक मन अशांत ही रहेगा, मानसिक तनाव की वजह से सही निर्णय नहीं ले पाते हैं और परेशानियां बढ़ती हैं

एक गरीब व्यक्ति हमेशा भक्ति करता रहता था, एक दिन उसकी भक्ति से प्रसन्न होकर भगवान प्रकट हुए और वर…

जो लोग भक्ति करते हैं, उन्हें सभी बुराइयों का त्याग कर देना चाहिए, सच्चा भक्त कभी भी किसी लोभ में नहीं फंसता

दो संत एक साथ रहते थे, एक संत दिनभर भक्ति करता था, दूसरा संत रोज शाम को भगवान को भोग…

बुरे समय में सोच-समझने की शक्ति कमजोर हो जाती है, इसीलिए बड़े निर्णय करने में जल्दबाजी न करें, धैर्य से काम लेना चाहिए

एक जौहरी की मृत्यु के बाद उसका बेटा हीरों का हार बेचने के लिए अपने चाचा के पास पहुंचा, चाचा…

तीन संतों ने महिला को समझाया- जिस घर में सभी लोग प्रेम से रहते हैं, वहां सुख, शांति, सफलता और संपन्नता बनी रहती है

तीन संत मांग रहे थे भिक्षा, तभी एक महिला ने संतों को भोजन के लिए आमंत्रित किया, संतों ने कहा…

error

Enjoy this blog? Please spread the word :)

Follow by Email
LinkedIn
Share
Instagram