जोधपुर के रातानाड़ा के गणेश मंदिर में लोगों की कतार लगी देखी गई।


  • जून में 3 दिन 27, 29 और 30 ही विवाह के शुभ मुहूर्त बचे, इसके बाद चार महीने तक विवाह नहीं हो सकेंगे
  • कोरोना जांच के लिए इस्तेमाल की जा रही वीटीएम टेस्ट किट को लेकर विवाद सामने आया

दैनिक भास्कर

Jun 25, 2020, 09:28 PM IST

जयपुर. गुरुवार को राजस्थान में कोरोना के 287 नए मामले सामने आए। इनमें जोधपुर में 52, जयपुर मे 40, पाली में 30,  बीकानेर में 23, बाड़मेर में 15, अलवर में 14, अजमेर में 10, कोटा में 9, चूरू में 8, धौलपुर में 12, उदयपुर में 7, सिरोही और डूंगरपुर में 8-8, दौसा और भरतपुर में 5-5, सीकर, राजसमंद, जालौर, हनुमानगढ़ और जैसलमेर में 4-4, नागौर में 3, सवाई माधोपुर, गंगानगर और झुंझुनू में 2-2, बूंदी, भीलवाड़ा, बांसवाड़ा और झालावाड़ में 1-1 संक्रमित मिला। वहीं, दूसरे राज्य से आए 8 लोग भी पॉजिटिव मिले। जिसके बाद कुल संक्रमितों का आंकड़ा 16296 पहुंच गया। वहीं, 4 लोगों की मौत हो गई। इनमें बीकानेर में 3 और सवाई माधोपुर में 1 की मौत हुई। जिसके बाद कुल मौत का आंकड़ा 379 पहुंच गया।

जोधपुर के रातानाड़ा के गणेश मंदिर का नजारा इन दिनों कुछ अलग है। कारण- लॉकडाउन के दो महीनों यानी अप्रैल और मई में शादी का मुहूर्त निकल जाने के बाद जून के तीन दिन 27, 29 और 30 ही बचे हैं। इसके बाद चार महीने तक विवाह नहीं हो सकेंगे। ऐसे में यहां पर रोजाना कई परिवार गणेशजी को न्योता देने पहुंच रहे हैं। पुजारी प्रदीप शर्मा और कृष्णमुरारी शर्मा ने बताया कि मंदिर फिलहाल श्रद्धालुओं के दर्शन के लिए नहीं खोला गया है। आगे सरकार द्वारा गाइडलाइन जारी की जाएगी तभी मंदिर भक्तों के दर्शन के लिए खोला जाएगा। बुधवार को भी यहां 35 से ज्यादा परिवार गणेशजी को निमंत्रण देने पहुंचे। मंदिर बंद होने से वे द्वार से ही गणेशजी को निमंत्रण देकर चले गए।

कोरोना की जांच करने वाली किट ही खराब
कोरोना जांच के लिए इस्तेमाल की जा रही वीटीएम टेस्ट किट को लेकर विवाद सामने आया है। कई अस्पताल और प्रशासन की ओर से वीटीएम किट को लेकर सवाल उठे और किट जांच के लिए भेजी गई। इसके बाद खुद आरएमएससीएल की जांच में ये किट घटिया पाई गई है। रिपोर्ट आने के बाद कुल 1 लाख किट को वापस लौटा दिया गया है। इस मामले में स्वास्थ्य मंत्री रघु शर्मा ने कहा कि वीटीएम किट में खामियों गंभीर मामला है। पूरे मामले की जांच करा रहे हैं।

लॉकडाउन में गिरा गर्भवतियों का हीमोग्लोबिन
कोरोना के डर की वजह से प्रेग्रेंसी में महिलाएं फ्रूट्स और हरी सब्जियां नहीं खा पाईं। अनलॉक के दौरान भी डर कायम रहा। इससे न्यूट्रीशियन डाइट नहीं मिल पाने से उनके शरीर में जरूरी पोषक तत्वों की कमी हो रही है। इसका असर बच्चों की ग्रोथ पर पड़ रहा है। गाइनीकलॉजिस्ट के मुताबिक, प्रेग्रेंसी में में आयरन की ज्यादा जरूरत होती है। माना जाता है कि भारत में 80-90 प्रतिशत महिलाओं में आयरन की कमी होती है। लॉकडाउन में डाइट पूरी नहीं मिल पाने के कारण इसकी कमी ज्यादा हो गई है। ज्यादातर महिलाओ का हीमोग्लोबिन 3 से 6 ग्राम तक रह गया है।  

जयपुर में लगातार लोगों की सैंपलिंग की जा रही।

जयपुर परकोटे में बाजार रात 8 बजे तक खुलेंगे
जयपुर परकोटे में बाजार खोलने की अनुमति 8 बजे तक कर दी गई है। जयपुर पुलिस उपायुक्त डॉ. राजीव पचार द्वारा ये आदेश जारी किए गए। इसमें बताया गया है कि परकोटे के प्रत्येक बाजार में इस दौरान आने-जाने का रास्ते अलग-अलग रहेंगे। साथ ही पतली गलियों वाली दुकानों में 2 स्टाफ और एक समय में 1 ग्राहक के अंदर आने की ही अनुमति होगी। इससे पहले 7 बजे तक बाजार खोलने की अनुमति थी।

बूंदी-बारां कोरोना मुक्त होने की राह पर थे, फिर से आए मरीज
बूंदी-बारां जिला कोरोना मुक्त होने की राह पर थे, लेकिन दोनों जगह दो-दो नए मरीज रिपोर्ट हुए। इसके बाद यहां संक्रमितों का आंकड़ा एक बार फिर बढ़ गया। बूंदी में एक 25 साल की महिला और 9 माह का बच्चा पॉजिटिव मिला। वहीं, बारां में 23 और 28 साल के दो पुरुष संक्रमित मिले हैं। 

अजमेर: वकीलों को अब मोबाइल पर ही मिलेगी मुकदमे की तारीख
जिला एवं सत्र न्यायालय अजमेर की अदालत में अधिवक्ताओं को तारीख पेशी के लिए परेशान होने या अदालत के चक्कर लगाने की जरूरत नहीं पड़ेगी। अब वकीलों को मुकदमे की तारीख मोबाइल पर मैसेज के जरिए मिलेगी। 

उदयपुर के राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय में सोशल डिस्टेंसिंग के साथ काम करता स्टाफ।

राजस्थान: जयपुर में हुई सबसे ज्यादा मौतें

  • प्रदेश में संक्रमण के सबसे ज्यादा केस जयपुर में हैं। यहां 3148 (2 इटली के नागरिक) संक्रमित हैं। इसके अलावा जोधपुर में 2627 (इनमें 47 ईरान से आए), भरतपुर में 1437, पाली में 1024, उदयपुर में 677, कोटा में 585, नागौर में 609, डूंगरपुर में 425, अजमेर में 479, झालावाड़ में 375, सीकर में 493, चित्तौड़गढ़ में 208, सिरोही में 395, टोंक में 200, जालौर में 262, भीलवाड़ा में 243, राजसमंद में 227, झुंझुनूं में 323, चूरू में 289, बीकानेर में 229, जैसलमेर में 116 (इनमें 14 ईरान से आए), बांसवाड़ा में 93, बाड़मेर में 240, मरीज मिले हैं।
  • धौलपुर में 555, अलवर में 400, दौसा में 123, बारां में 64, सवाई माधोपुर में 91, करौली में 76, हनुमानगढ़ में 58, प्रतापगढ़ में 15 कोरोना मरीज मिल चुके हैं। श्रीगंगानगर में 50, बूंदी में 13 पॉजिटिव मिला। जोधपुर में बीएसएफ के 50 जवान भी पॉजिटिव मिल चुके हैं। वहीं दूसरे राज्यों से आए 97 लोग पॉजिटिव मिले।
  • राजस्थान में कोरोना से अब तक 379 लोगों की मौत हुई है। इनमें जयपुर में सबसे ज्यादा 152 की मौत हुई। इसके अलावा, जोधपुर में 37, भरतपुर में 31, कोटा में 22, अजमेर में 15, नागौर में 12, बीकानेर में 13, पाली में 8, सवाई माधोपुर, सीकर और चित्तौड़गढ़ में 6, भीलवाड़ा, अलवर और सिरोही में 5-5, धौलपुर,  करौली और बारां में 4-4, गंगानगर, दौसा और उदयपुर में 3-3, चूरू, बाड़मेर, बांसवाड़ा और जालौर में 2-2, झुंझुनू, राजसमंद, प्रतापगढ़ और टोंक में 1-1 की मौत हो चुकी है। वहीं दूसरे राज्य से आए 23 व्यक्ति की भी मौत हुई है।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *