स्वास्थ्य मंत्रालय बोला- रिकवरी के बाद हर रोज योगासन, प्राणायाम, मेडिटेशन और दिन में एक बार वॉक करें


  • Hindi News
  • National
  • Health Ministry Said, After Recovery, Do Yoga, Pranayama, Meditation And Walk Once A Day; Take Care Of Cleanliness Also

नई दिल्ली22 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

स्वास्थ्य मंत्रालय ने कोरोना से ठीक हो चुके मरीजों को अपने डेली रूटीन में बदलाव लाने को कहा है। -फाइल फोटो

  • केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा- ठीक हुए लोग दोस्तों-परिवार को पॉजिटिविटी की बातें सुनाएं, ताकि लोगों के मन से महामारी को लेकर भ्रम दूर हो
  • इसके मुताबिक- रिकवरी और पुनर्वास के लिए सेल्फ हेल्प ग्रुप, सामाजिक संगठनों और क्वालिफाइड प्रोफेशनल्स की मदद ले सकते हैं

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कोरोना से ठीक हो चुके मरीजों के लिए प्रोटोकॉल जारी की हैं। इसमें कहा गया है कि रोज योगासन, प्राणायाम और मेडिटेशन करें। सुबह या शाम वॉक भी करें। उतनी ही स्पीड में चलें, जितनी आपको जरूरी लगे।

कोरोना से ठीक होने के बाद का प्रोटोकॉल

व्यक्तिगत स्तर पर

  • साफ-सफाई और सोशल डिस्टेंसिंग का ध्यान रखें, मास्क लगाएं और हेंड सैनिटाइजर इस्तेमाल करें।
  • स्वास्थ्य साथ दे तो घर का काम करें। ऑफिस का काम धीरे-धीरे शुरू कर सकते हैं।
  • डॉक्टर की सलाह से ब्रीदिंग एक्सरसाइज करें। ऐसा भोजन लें, जो आसानी से पच जाए। खाने में पोषक तत्वों को शामिल करें।
  • पर्याप्त नींद लें, सिगरेट-शराब से बचें।
  • कोरोना के लिए बताई गई दवाएं लें। घर पर ही टेम्प्रेचर, ब्लड प्रेशर, डायबिटीज चैक करते रहें।
  • अगर सूखी खांसी आ रही है तो नमक के पानी से गरारे करें। गर्म पानी की भाप भी ले सकते हैं। डॉक्टर की सलाह से कफ सिरप ले सकते हैं।
  • तेज बुखार, सांस फूलने, ऑक्सीजन लेवल कम होने, सीने में दर्द के संकेतों पर ध्यान दें।

इन दवाओं का प्रयोग करें

  • पर्याप्त मात्रा में गर्म पानी पिएं और आयुष डॉक्टरों की सलाह से इम्युनिटी बढ़ाने के लिए आयुष दवाएं लें।
  • हल्दी वाला दूध पिएं और च्यवनप्राश खाएं।
  • आयुष क्‍वाथ, संशमनी वटी या गिलोय पाउडर लें।
  • अश्‍वगंधा, आंवला खाएं।
  • सूखी खांसी हो तो मुलेठी पाउडर गर्म पानी के साथ दिन में दो बार लें।
  • हल्के नमक के पानी से गरारे करें।

सामुदायिक स्तर पर

  • कोरोना से ठीक हुए लोग अपने दोस्तों और परिवार को पॉजिटिविटी की कहानियां सुनाएं, ताकि लोगों के मन से महामारी को लेकर भ्रम दूर हो।
  • रिकवरी और पुनर्वास के लिए सेल्फ हेल्प ग्रुप, सामाजिक संगठनों और क्वालिफाइड प्रोफेशनल्स की मदद ले सकते हैं।

0



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error

Enjoy this blog? Please spread the word :)

Follow by Email
LinkedIn
Share
Instagram