• ताइपे के सोंगशान एयरपोर्ट पर 2 जुलाई से शुरू हुआ प्रोग्राम, पहले दिन ही 60 लोगों ने इसका अनुभव लिया
  • देश में फंसे करीब 7 हजार पर्यटकों ने आवेदन किया है, ड्रा के आधार पर ही शामिल होने की अनुमति मिलेगी

दैनिक भास्कर

Jul 03, 2020, 02:10 PM IST

कोरोनावायरस के कारण कई देशों में अभी हवाई यात्रा पर प्रतिबंध है। लोगों को हवाई यात्रा का अहसास कराने के लिए ताइवान में फेक फ्लाइट प्रोग्राम शुरू हुआ है। ताइपे के सोंगशान एयरपोर्ट पर गुरुवार को पहले दिन ही 60 लोगों ने इसका अनुभव लिया। प्रोग्राम में शामिल होने वाले लोगों को एयरपोर्ट पर जाकर चेक इन करना होगा, पासपोर्ट और सुरक्षा जांच के बाद बोर्डिंग पास जारी होगा। इसके बाद प्लेन में बैठ सकते हैं।

एयरबस ए-330 प्लेन में अटैंडेंट्स लोगों से बातचीत करते हैं, उनकी मदद भी करते हैं। प्लेन के अंदर ही ब्रेकफास्ट भी दिया जाता है। प्लेन में बैठने के लिए हेल्थ सर्टिफिकेट जरूरी है। यह प्रोग्राम जुलाई माह के लिए शुरू किया गया है। इसके लिए स्थानीय और लॉकडाउन से देश में फंसे करीब 7 हजार पर्यटकों ने आवेदन किया है। ड्रा के आधार पर ही लोगों को इस प्रोग्राम में शामिल होने की अनुमति है। 

यह प्रोग्राम जुलाई माह के लिए शुरू किया गया है। इसके लिए स्थानीय और लॉकडाउन से देश में फंसे करीब 7 हजार पर्यटकों ने आवेदन किया है। ड्रा के आधार पर ही लोगों को इस प्रोग्राम में शामिल होने की अनुमति है। 38 साल के सिआओ चुन वेई ने बताया कि हम देश छोड़कर तो नहीं जा सकते, पर इससे अहसास तो ले ही सकते हैं। वे अपने बेटे को लेकर आए थे।

48 साल की साई के मुताबिक जैसे ही महामारी का दौर खत्म होगा, हम वास्तव में दुनिया घूमने जा सकेंगे, यह उसी की तैयारी जैसा है। इस प्रोग्राम के जरिए सोंगशान एयरपोर्ट पर पर्यटकों को रिनोवेशन और कोरोना के लिए किए जा रहे रोकथाम के उपायों के बारे में भी बता रहा है। यहां से जापान और चीन के लिए उड़ानें संचालित होती हैं। 

प्रोग्राम में शामिल होने आए लोग एयरपोर्ट पर खुशी जताते नजर आए। फ्लाइट में सेल्फी का दौर भी चला। लोगों ने हंसी-मजाक के साथ स्नैक्स का आनंद उठाया। एक लम्बे समय से घर में कैद लोग जब बाहर निकले तो उनके चेहरे पर मुस्कान नजर आई।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *