नॉर्थ कोरिया के शासक किम जोंग उन ने कहा- चीन की तरफ से आने वालों को गोली मार दो; अभी तक यहां एक भी केस की पुष्टि नहीं


  • Hindi News
  • International
  • US North Korea China | Kim Jong Un Issued Shoot to kill Orders To Prevent Coronavirus Covid 19 Entering From China

वॉशिंगटन23 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

किम जोंग उन ने जनवरी से ही चीन से सटी सीमा बंद कर दी है। लिहाजा चीन से होने वाला उसका आयात 85% तक गिर गया है। -फाइल फोटो

  • चीन और नॉर्थ कोरिया मित्र देश हैं, किम कई बार चीन जा चुके हैं, प्रतिबंधों के चलते चीन से ही काफी आयात होता है
  • नॉर्थ कोरिया के गोली मारने के आदेश जानकारी साउथ कोरिया में तैनात अमेरिकी कमांडर ने दी

पूरी दुनिया कोरोना महामारी की चपेट में है और अपने-अपने तरीके से लड़ रही है। नॉर्थ कोरिया का मामला सबसे हटकर है। तानाशाह किम जोंग उन ने देश में वायरस की रोकथाम के लिए चीन की तरफ से आने वालों को गोली मारने के आदेश दिए हैं। साउथ कोरिया में तैनात अमेरिकी फौज के कमांडर ने शुक्रवार को ये जानकारी दी है।

जानकारी के मुताबिक, नॉर्थ कोरिया की कमजोर स्वास्थ्य सेवाएं महामारी से लड़ने में नाकाम साबित हो रही है। बीमारी के फैलने के बाद से किम ने अब तक देश में एक भी मामले की पुष्टि नहीं की है। इतना ही नहीं, कोरोना को रोकने के लिए नॉर्थ कोरिया ने चीन से सटी सीमा जनवरी में ही बंद कर दी थी। जुलाई में नॉर्थ के अधिकारियों ने कहा था कि इमरजेंसी को सर्वोच्च स्तर तक ले जाया गया है।

‘बॉर्डर बंद होने से स्मगलिंग बढ़ी’
नॉर्थ कोरिया और चीन मित्र देश हैं। किम कई बार ट्रेन से चीन जा चुके हैं। नॉर्थ बड़ी मात्रा में चीन से सामान इम्पोर्ट करता है। यूएस फोर्स कोरिया (USFK) के कमांडर रॉबर्ट अब्राम्स ने एक ऑनलाइन कॉन्फ्रेंस में कहा कि सीमा बंद होने से सामानों की स्मगलिंग बढ़ी है। इसे रोकने के लिए अधिकारियों को खासी मशक्कत करनी पड़ रही है। नॉर्थ कोरिया ने सीमा से सटे एक या दो किमी के इलाके में नया बफर जोन बनाया है। उन्होंने वहां स्पेशल ऑपरेशन फोर्स (एसओएफ) तैनात की है। इस फोर्स को आदेश दिए गए हैं कि बफर जोन में दिखने वाले को गोली मार दें।

अब्राम्स के मुताबिक, नॉर्थ कोरिया न्यूक्लियर प्रोग्राम के चलते पहले से ही आर्थिक प्रतिबंधों से जूझ रहा है। बॉर्डर बंद होने से चीन से होने वाले उसके आयात में 85% तक गिरावट आई है। वहीं, नॉर्थ कोरिया टाईफून (चक्रवाती तूफान) मायसाक के प्रभावों से भी उबरने की कोशिश कर रहा है। इसमें दो हजार से ज्यादा घर तबाह हो गए थे।

किम ने 2 साल से अब तक कोई बड़ा परीक्षण नहीं किया
जून 2018 में किम जोंग उन और अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के बीच सिंगापुर में पहली मुलाकात हुई थी। इसके बाद में 2019 में दूसरी मुलाकात वियतनाम और तीसरी नॉर्थ-साउथ कोरिया की सीमा (डिमिलिट्राइज्ड जोन) पर हुई थी। ट्रम्प से मुलाकात के बाद से छोटे मिसाइल टेस्ट तो किए हैं, पर कोई परमाणु परीक्षण नहीं किया।

बीते महीनों में किम की तबीयत बिगड़ने की खबरें आईं। गुरुवार को ट्रम्प ने ट्वीट किया, ‘किम जोंग उन की तबीयत बेहतर है। उन्हें कमतर नहीं आंक सकते।’

किम जोंग उन से जुड़ी आप ये खबरें भी पढ़ सकते हैं…

1. किम पर नया दावा:साउथ कोरिया के अफसर ने कहा- नॉर्थ कोरिया का तानाशाह किम जोंग उन कोमा में, बहन ने देश की बागडोर संभाली

2. कोमा में होने के दावे के बीच नजर आया तानाशाह:नॉर्थ कोरिया के शासक किम जोंग ने तूफान प्रभावित इलाकों का दौरा किया, कहा- इससे मामूली नुकसान हुआ​​​​​​​

0



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error

Enjoy this blog? Please spread the word :)

Follow by Email
LinkedIn
Share
Instagram