• भाजपा अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा मोदी सरकार के एक साल पूरे होने पर मप्र में वर्चुअल रैली को संबोधित कर रहे थे
  • कहा- अगस्त 2017 में जब चीन और भारत आमने-सामने थे, तब राहुल गांधी चीन के राजदूत के साथ गुपचुप मुलाकात कर रहे थे

दैनिक भास्कर

Jun 26, 2020, 04:52 AM IST

भोपाल. भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष जेपी नड्डा ने आरोप लगाते हुए कहा कि राजीव गांधी फाउंडेशन को चीन की कुछ संस्थाओं ने 300 हजार अमेरिकी डॉलर मुहैया कराए हैं। उन्होंने कहा कि चीन और कांग्रेस के बीच गुपचुप रिश्ता भी है। राजीव गांधी फाउंडेशन की चेयरपर्सन सोनिया गांधी हैं और कई कांग्रेस नेता इससे जुड़े हुए हैं। इस फाउंडेशन को लगभग एक दशक पहले पीपल्स रिपब्लिक ऑफ चाइना और चीन ने इतनी मोटी रकम क्यों दी? उन्होंने कहा कि देश जानना चाहता है कि फाउंडेशन को इतना पैसा किस उद्देश्य से दिया गया। नड्डा ने गुरुवार को मध्यप्रदेश की वर्चुअल रैली को संबोधित कर रहे थे।

इधर, पूर्व मुख्यमंत्री एवं प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ ने आज भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा की वर्चुअल रैली ‘‘मप्र जनसंवाद रैली’’ के आयोजन पर कहा- यह बेहद शर्मनाक है। कोरोना महामारी के संक्रमणकाल में भी भाजपा को मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल के एक वर्ष पूर्ण होने पर अपनी उपलब्धियों व योजनाओं के प्रचार-प्रसार की पड़ी है। मप्र में इस कोरोना महामारी से अभी तक 12 हजार से अधिक लोग संक्रकित हो चुके है। 500 से अधिक लोगों की मौतें हो चुकी है, लेकिन इन दुखद मौतों पर संवेदना व्यक्त करने व कोरोना महामारी के नियंत्रण में अपनी सरकार की असफलता को स्वीकारने की बजाय, भाजपा मोदी जी का महिमा मंडल व सरकार का गुणगान करने में लगी हुई है।

नड्डा ने कहा कि ये लोग चीन से पैसा लेते हैं और उससे जो स्टडी कराई जाती है, वो देशहित में नहीं है। उन्होंने कहा कि इसी तरह गलवान घाटी में हुई घटना पर भी कांग्रेस ने राजनीति की। ये वही कांग्रेस है, जिसने 2017 के अगस्त माह में जब चीन और भारत आमने सामने थे, तब राहुल गांधी चीन के राजदूत के साथ गुपचुप मुलाकात कर रहे थे। और अब ये लोग चीन के मामले में सवाल उठा रहे हैं।

नड्डा ने कांग्रेस की नियत और नीति पर सवाल किए 
नड्‌डा ने नेहरू परिवार पर भी हमला बोला। कहा- एक ही परिवार, जिसे जनता ने वर्तमान में नकार दिया है, वह संपूर्ण विपक्ष नहीं हो सकता है। उन्होंने इस परिवार की नीयत और नीति पर सवाल उठाए। कहा- उसकी ही गलती के कारण देश की 43 हजार वर्ग किलोमीटर जमीन चली गई। जब गलवान घाटी को लेकर सभी राजनैतिक दल केंद्र की मोदी सरकार के साथ हैं, वहीं एक परिवार सवाल खड़े कर रहा है।

एक करोड़ लोगों को जोड़ने का लक्ष्य था 
मध्यप्रदेश भाजपा की ओर से आयोजित वर्चुअल रैली से एक करोड़ से ज्यादा लोगों को जोड़ने का लक्ष्य बनाया था। बताया जा रहा है कि इसमें राज्यभर से लाखों लोग जुड़े और उन्हें सुना। नड्डा ने दिल्ली से संबोधित किया। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान, प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदत्त शर्मा और अन्य भाजपा नेताओं ने इसे भोपाल में संबोधित किया और सुना भी।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *