इस्लामाबाद2 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

प्रधानमंत्री इमरान खान जल्द ही गिलगित-बाल्टिस्तान का दौरा कर सकते हैं और इस संबंध में आधिकारिक ऐलान कर सकते हैं। -फाइल फोटो

  • गिलगित-बाल्टिस्तान को सीनेट और नेशनल असेंबली में भी रिप्रेजेंटशन दिया जाएगा
  • राज्य का दर्जा मिलने के बाद भी लोगों को टैक्स में मिलने वाली छूट और सब्सिडी जारी रहेगी

जम्मू-कश्मीर, लद्दाख को नक्शे में अपना हिस्सा बताने के बाद पाकिस्तान भारत को उकसाने के लिए एक और पैंतरा अपना रहा है। इमरान सरकार गैरकानूनी तरीके से गिलगित-बाल्टिस्तान को पाकिस्तान का पांचवां राज्य बनाने जा रही है।

पाकिस्तानी न्यूज पेपर एक्सप्रेस ट्रिब्यून ने कश्मीर और गिलगित-बाल्टिस्तान मामलों के मंत्री अली अमीन के हवाले से यह बात कही है। अमीन ने ट्रिब्यून को बताया कि सरकार ने गिलगित-बाल्टिस्तान को सभी संवैधानिक अधिकारों के साथ पूर्णकालिक राज्य का दर्जा देने का फैसला किया है। इसके साथ ही सीनेट और नेशनल असेंबली में भी इसे रिप्रेजेंटशन दिया जाएगा।

इमरान गिलगित-बाल्टिस्तान का दौरा करेंगे
अली अमीन ने बताया कि प्रधानमंत्री इमरान खान जल्द ही इस इलाके का दौरा करेंगे और इस संबंध में आधिकारिक ऐलान भी इसी दौरे पर किया जाएगा। अमीन ने कहा कि हमारी सरकार ने गिलगित-बाल्टिस्तान के लोगों से किए गए वादों को पूरा करने का फैसला किया है। पूर्णकालिक राज्य का दर्जा मिलने के साथ ही इस इलाके के लोगों को टैक्स में मिलने वाली छूट और सब्सिडी आगे भी जारी रहेगी।

उन्होंने बताया कि गिलगित-बाल्टिस्तान में इसी साल नवंबर में चुनाव होंगे और जल्द ही पार्टी कैंडिडेट्स को टिकट बांटेगी। इमरान की पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ पार्टी इन चुनाव में किसी भी स्थानीय पार्टी के साथ गठबंधन कर सकती है। लेकिन, पाकिस्तान मुस्लिम लीग-नवाज और पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी के साथ कोई गठबंधन नहीं होगा।

एक्टिविस्ट चुनाव के विरोध में हैं
कुछ एक्टिविस्ट ने इस इलाके में चुनाव का विरोध किया है। उनका कहना है कि इमरान अपने मन की सरकार चाहते हैं और इसीलिए चुनाव करवा रहे हैं। उनका कहना है कि मौजूदा परिस्थितियों में आजाद और निष्पक्ष चुनाव होना मुश्किल हैं, क्योंकि यहां एंटी टेररिज्म एक्ट लगा हुआ है, जिसका इस्तेमाल विरोध करने वाले लोगों की आवाज दबाने में किया जाता है।

0



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *